ये 5 टिप्स आपको स्वस्थ बनाने के लिए

आज की इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में हमारा हर काम ज़रूरी है पर उससे से भी ज्यादा ज़रूरी है हमारी सेहत का सही होना कुयुकी कहता ही एक स्वस्थ शरीर में स्वस्थ दिमाग बस्ता है और स्वस्थ दिमाग से किसी भी काम को बेहतर ढंग से किया जा सकता है। पर क्या हम अपनी सेहत का ख्याल रखते है? शायद आप में से कुछ रखते भी हो ओर कुछ के पास समय न होने का बहाना होता है। ज़रा गौर कीजिये की कब आपने अपनी सेहत को लेकर गहरे से सोचा है, काफी समय हो गया है ना । पर आप इन 5 तरीकों से खुद को आजीवन स्वस्थ रख सकते हैं ।

१. एक अच्छी नींद जो हम सभी को चाहिए और ज़रूरी भी है, एक व्यक्ति को 24 घंटो में 6-8 घंटो की नींद लेना बहुत ज़रूरी है, अगर आप रात को सिर्फ 6 घंटे ही सोये है तो दिन में किसी भी समय जब भी आपको मौका मिले 1-2 घंटे ज़रूर सोइए इससे आप तारो ताज़ा रहेंगे और काम में भी मन लगा रहेगा। एक बात का हमेशा ध्यान रखिये की सोते समय ही हमारा शरीर किसी भी तरह की चोट या स्ट्रेस से रिकवर होता है, एक अच्छी नींद लेने के लिए आप सोने से पहले आधा घंटा पहले टीवी और अन्य किसी भी प्रकार के काम से फ्री होकर मैडिटेशन करिए और ठन्डे पानी से हाथ,मूह और पैर धोकर सोइए, इससे आपको काफी मदद मिलेगी।

.२ सुबह के समय घुमने ज़रूर जाए इससे आपको स्वच्छ वायु मिलेगी और शरीर में रक्तचाप बराबर रहेगा, पार्क में घुमने का मौका मिले तो नंगे पैर चलिए अपने पैरों को मुलायम घास पर चलने से आपके पैरो को भी आराम मिलेगा। अगर आप सूर्य नमस्कार कर सकते है तो सुबह का समय सूर्य नमस्कार के लिए बहुत ही अच्छा होता है, ज्यादा नहीं सिर्फ 7 बार ही दोहराना है. इस प्रक्रिया से आपके शरीर को लचीलापन अर्थात फ्लेक्सिब्लिटी मिलिगी ।

३. सुबह उठते ही शरीर को कुछ स्वास्थवर्धक भोजन दें हो सके तो एक सेब ज़रूर, क्युकी सोते समय हमारा शरीर काफी समय तक भूखा रहता है, सुबह का नाश्ता कभी भी मिस न करें। एक ऐसा टाइम टेबल बनाये की आप अपने शरीर को हर 3-4 घंटो के अन्तराल में कुछ न कुछ स्वस्त्वार्धक चीज़े खिला सकें। टला हुआ खाना खाने से बचें और जितना हो सके फल और हरी सब्ज़ी या सलाद का सेवेन करें इससे शरीर में जामा चर्बी को कम करने में मदद मिलेगी ओअर वज़न भी कम होगा जिससे आपके पैरों की हड्डीयों पर पड़ रहा वज़न कम होगा और बुढापे में पैरों के दर्द की समस्या नहीं होगी ।

४. हम सभी जानते हैं की हमारा शरीर 70 प्रतिशत पानी से बना है, इसलिए भरपूर मात्र में पानी का सेवन करें और होसके तो दिन में समय चाय के बदले एक गिलास जूस ज़रूर पियें। पर्याप्त मात्र में पानी पीने से आप को कभी बदहज़मी की शिकायत नहीं होगी. कई लोग कहते हैं की हमारे पानी में खार की मात्र बहुत ज्यादा है, ऐसी इस्थिति में पानी को उबाल कर बोतल में भर कर रखलें अगर संभव हो तो मटके का पानी पियें। एक बात का अवश्य ख्याल रखे की कभी भी खाने के तुरंत बाद ज्यादा पानी न पिए इससे भोजन को हज़म करने में सहयोगी तरल का असर कम हो जाता है।

५. अब सबसे महत्वपूर्ण बात हम लोग अधिकतर बैठने का काम करते हैं तो हर 15-20 मिनट में या 1 घंटे में 10 सेकंड के लिए अपने पैरों के पंजो को पैर सीध रख कर छूने का प्रयास ज़रूर करें इससे आपके पैरों में रक्त की चाल बराबर रहेगी, जो की लम्बे समय तक कुर्सी पर बैठे रहने की वजह से धीमी पड़ जाती है, और हमारे कमर से निचे वाले शरीर में कमजोरी आने लगती है। क्युकी हमारे शरीर में रक्त ही है जो सभी अंगों में ऑक्सीजन के प्रवाह को पर्याप्त मात्र में लेजाता है ।

यह कुछ आसान तरीके है जो आपको स्वस्थ रखने में सहायता करेंगे बाकी तो आप समझदार हैं, और इस आर्टिकल को पढने के बाद भी अगर लगे की यह सब करने का समय नहीं है तो आप सिर्फ खुद को ही धोखा देने के बारे सोच रहे है, क्यों की आज जो समय बचा रहे है उसका खामियाजा बुढ़ापे में भरना भी आप ही को है ।

ऐसी ही और स्वस्थ वर्धक जानकारियों और रोचक टिप्स के बारे में जाने के लिए सब्सक्राइब करना न भूले यह फ्री है और ज्यादा समय भी नहीं लगेगा धन्यवाद!

 

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Pin It on Pinterest